उद्देश्य

समिति के उद्देश्य हैं:

  1. गांधीवादी आदर्शों एवं दर्शन को बढ़ावा देने के लिए गतिविधियों की योजना बनाना एवं उन्हें आयोजित करना।
  2. संग्रहालय से संबंधित मानक मानदंडों के अनुरूप गांधी स्मृति एवं दर्शन समिति को खुला रखना तथा आगंतुकों को अधिकतम सुविधाएं प्रदान करने के लिए रखरखाव करना।
  3. गांधी स्मृति संग्रहालय एवं गांधी दर्शन प्रदर्शनी दोनों में ही श्रोता विकास एवं संग्रहालय प्रबंधन संरचना को बढ़ावा देना।
  4. प्रदर्शनी, फिल्मों, गांधीयाना, पोस्टरों एवं कला, संस्कृति एवं प्रौद्योगिकी के विभिन्न रूपों जैसे शैक्षणिक माध्यमों के जरिये महात्मा गांधी के जीवन एवं संदेश के प्रति जागरूकता पैदा करने के लिए कदमों को बढ़ावा देना।
  5. दुर्लभ पुस्तकों, साहित्य, चित्रों, फिल्मों एवं दस्तावेज आदि समेत किताबों के पुस्तकालय को विकसित एवं संरक्षित करना।
  6. महात्मा गांधी के महत्वपूर्ण स्मृति चिन्हों को एकत्रित, संरक्षित एवं प्रदर्शित करना।
  7. गांधीवादी कार्य एवं समाज की बेहतरी के लिए स्वयंसेवकवाद को बढ़ावा देना।
  8. महात्मा गांधी के दर्शन एवं आदर्शों से संबंधित विभिन्न गतिविधियों के जरिये आंतिम जनों को अधिकार संपन्न बनाने का फोकस करना।
  9. गांधीवादी मूल्यों एवं कार्यों को ग्रहण करने के लिए बच्चों, युवाओं, महिलाओं तथा अन्य समूहों की क्षमताओं का विकास करना जिससे कि गांधीवादी दर्शन को व्यावहारिक रूप से लागू करने के जरिये व्यवहारगत बदलाव/विकास लाया जा सके।
  10. जरूरत के अनुरूप गांधी दर्शन एवं गांधी स्मृति के दोनों परिसरों तथा वहां की सभी चल एवं अचल संपत्तियों की पुर्नबहाली, सुरक्षा एवं प्रबंधन।
  11. महात्मा गांधी के बारे में और जिन मूल्यों को उन्होंने प्रचारित किया, उसके बारे में लोगों के विभिन्न वर्गों की जानकारी बढ़ाने के लिए पत्रिकाओं का प्रकाशन।
  12. समसामयिक मुद्दों के संदर्भ में गांधीवादी दर्शन पर अंतःविषय अनुसंधान का संचालन।
  13. शिक्षा पर गांधीवादी दृष्टिकोण को प्रोत्साहित करना एवं उनका संवद्र्ध न करना तथा शांति, पारिस्थितिकी सुरक्षा, समानता और न्याय के लिए शिक्षा को सुगम बनाना।
  14. महात्मा गांधी एवं गांधीवादी दर्शन की बेहतर एवं गहरी समझ के लिए विभिन्न विश्वविद्यालयों तथा शैक्षणिक संस्थानों के साथ व्यापक तरीके से काम करना।
  15. गांधीवादी रचनात्मक कार्य के एक हिस्से के रूप में व्यवसायिक प्रशिक्षण कार्यक्रमों एवं अन्य आजीविका पहलों के जरिये समाज के कमज़ोर वर्गों को अधिकार संपन्न बनाना।
  16. समाज की चुनौतिपूर्ण समस्याओं पर विचार करना एवं उन्हें दूर करने के लिए कार्य करना।
  17. सामूहिक जीवन, सामूहिक काम, शांति एवं अहिंसा की संस्कृति के लिए काम करने के लिए विभिन्न हितधारकों को शामिल करना।
  18. खासकर सुदूर क्षेत्रों में महात्मा गांधी के जीवन एवं संदेश को पहु ंचाना।
  19. ऐसी अन्य गतिविधियां शुरू करना तथा सभी पूर्ववर्ती शासनादेशों को पूरा करना और उपरोक्त उद्देश्यों को पूरा करने के लिए अन्य संस्थानों के साथ सहयोग करना।